Menu

kanpurnet.com

                                                            {Kanpur Newsgroup's Website}

Unique Visits

5978

बारिश ने धोया पॉल्यूशन का कलंक

KANPUR: देश और दुनिया में कानपुर को बदनाम करने वाली शहर की आबो हवा फिलहाल साफ हो गई है। बारिश ने ये कलंक कुछ समय के लिए धो दिया है। ऐसा शायद पहली बार है कि कानपुर में पिछले 2 हफ्तों से एयर पॉल्यूशन न के बराबर है, बल्कि सेहत के लिए अच्छा भी बना हुआ है। ऐसा इसलिए भी है कि बारिश अच्छी होनी से एन्वॉयरमेंट में नमी बेहद ज्यादा है और डस्ट पार्टिकल हवा में न के बराबर है। इससे पहले कंप्लीट लॉकडाउन के दौरान कानपुर की हवा में सुधार दर्ज किया गया था। लेकिन, लॉकडाउन हटते ही पहले जैसे हालात हो गए थे। हालांकि मानसून तक कानपुर की हवा अच्छी बनी रहने की उम्मीद की जा सकती है।

KANPUR: मोस्ट पॉल्यूटेड सिटीज में शुमार कानपुर में अब 6 ऑटोमैटिक पॉल्यूशन मॉनिटरिंग सेंसर नजर रखेंगे। अभी तक नेहरू नगर में सिर्फ 1 और 8 जगहों पर मैनुअल तरह से मॉनिटरिंग की जाती है। सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के निर्देश पर अब कानपुर में 5 और मॉनिटरिंग सिस्टम लगाए जाएंगे। हाल ही में सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने 2 और ऑटोमैटिक मॉनीट¨रग स्टेशन को मंजूरी दे दी है जबकि 3 स्टेशनों की स्थापना की पहले ही बोर्ड स्वीकृत कर चुका है। सिटी में अब टोटल 6 मॉनीट¨रग स्टेशन हर मिनट पॉल्यूशन को रिपोर्ट करेंगे।यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के रिजनल ऑफिसर डा। एसबी फ्रैंक्लिन के मुताबिक पहले 3 मॉनिटरिंग सेंटर को आईआईटी, रामादेवी और नवाबगंज के पास लगाया जाना था। बोर्ड ने अब 2 और मॉनिटरिंग सेंटर बनाने के लिए अप्रूवल दिया है। इसके बाद अब नए सिरे से जगह तलाशी जाएगी। किराए पर मॉनिटरिंग सिस्टम लगाने के लिए मुश्किल हो रही है। इसलिए डीएम को लेटर लिखकर सरकारी बिल्डिंग में ये मॉनिटरिंग सिस्टम लगाने की परमीशन मांगी है।

कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। पश्चिम बंगाल के गंगा से लगे इलाकों में चक्रवात बनता दिख रहा है। इसके अलावा दक्षिण असम और उसके आसपास में भी चक्रवात नजर आ रहा है। भारतीय मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि इसकी वजह से पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में कुछ स्थानों पर आंधी-तूफान और गरज-चमक के साथ भारी बारिश के आसार नजर आ रहे हैं। पश्चिमोत्तर और हिमालय के पश्चिमी इलाकों में 3 सितंबर और मध्य भारत में 2-3 सितंबर को आंधी-तूफान और गरज-चमक के साथ भारी बारिश होगी।
पूर्वोत्तर भारत में आंधी-तूफान के साथ बारिश
भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, रायलसीमा, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में अगले तीन से चार दिनों में भारी बारिश के आसार बन रहे हैं। कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में 2-3 सितंबर के बीच कुछ स्थानों पर भारी बारिश होगी। बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, असम, मेघालय, मिजोरम, त्रिपुरा और तटीय आंध्र प्रदेश में अगले 12 घंटों के दौरान आंधी-तूफान और गरज-चमक के साथ बारिश होगी।

पाकिस्तान और उससे लगे पश्चिमी राजस्थान के अलाके में लो प्रेशर बना हुआ है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के पूर्वानुमान बुलेटिन के मुताबिक, मानसून अपने पश्चिमी किनारे पर सामान्य स्थिति पर बना हुआ है और यह हिमालय के निचले इलाकों की ओर बढ़ रहा है।

Go Back

Comment

News Posts

View older posts »

Blog Archive

Unique Visits

5978